Untitled design 13
ग्वालियर: केंद्रीय उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया की मां राजमाता माधवी राजे सिंधिया का निधन हो गया है। उन्होंने 90 साल की उम्र में बुधवार सुबह 9.28 पर अंतिम सांस ली। वो बीते कई दिनों से दिल्ली के AIIMS अस्पताल में गंभीर हालत में भर्ती थीं। उनके निधन पर सीएम मोहन यादव समेत कई भाजपा और कांग्रेस नेता कमलनाथ, दिग्विजय सिंह और जीतू पटवारी ने शोक व्यक्त किया है।
राजमाता सिंधिया को 15 फरवरी को एम्स में भर्ती किया गया था। उन्हें सेप्सिस के साथ निमोनिया भी हो गया था। वह वेंटिलेटर पर थीं और जिंदगी के लिए संघर्ष कर रही थीं। दिल्ली में निधन के बाद माधवी राजे के पार्थिव शरीर को अंतिम संस्कार के लिए मध्य प्रदेश के ग्वालियर लाया जाएगा। उनका अंतिम संस्कार कल बृहस्पतिवार को 11:00 विधि विधान से किया जाएगा। सूत्रों के अनुसार इस दौरान सभी राजघराने मौजूद रहेंगे एवं राजनीति से जुड़े बड़े नेता भी उपस्थित रहेंगे। ज्योतिरादित्य सिंधिया गुना-शिवपुरी संसदीय सीट से भाजपा के प्रत्याशी हैं, जहां 7 मई को मतदान हुआ था। चुनाव प्रचार के दौरान भी सिंधिया का लगातार दिल्ली दौरा होता रहा था। राजमाता माधवी राजे सिंधिया मूल रूप से नेपाल की रहने वाली थीं। उनका नेपाल के राजघराने से संबंध था। उनके दादा जुद्ध शमशेर बहादुर नेपाल के प्रधानमंत्री थे। साल 1966 में उनका विवाह माधवराव सिंधिया के साथ हुआ था।