डॉ. तरूण प्रसाद 2023 06 02T160629.124

चंडीगढ़ दिनभर

चंडीगढ़। पंजाब विधानसभा स्पीकर स. कुलतार सिंह संधवां ने कृषि विभाग, पंजाब मंडी बोर्ड और पंजाब एग्रो एक्सपोर्ट कॉरपोरेशन के अधिकारियों के साथ बैठक के दौरान फिरोजपुर मिर्च पट्टी के किसानों के लिए प्रोसैसिंग प्लांट लगाने की संभावनाएं ढूंढने को कहा। उन्होंने इस संबंधी एक महीने में रिपोर्ट पेश करने के लिए कहा है। विधानसभा सचिवालय में मिर्च पट्टी के किसानों सहित अधिकारियों के साथ बैठक के दौरान स. संधवां ने कहा कि फिरोजपुर पट्टी के किसानों द्वारा एक अनुमान के अनुसार करीब 40 हजार एकड़ जमीन पर मिर्च की खेती की जाती है। जिससे पंजाब की, सबसे बड़े उत्पादक देश मेक्सिको पर निर्भरता कम होगी, जो राज्य के लिए गर्व की बात है।

इसलिए राज्य सरकार का यह कर्तव्य है कि वह इस क्षेत्र में मिर्च प्रोसैसिंग प्लांट स्थापित करे ताकि पंजाब की मिर्च, जो राजस्थान के जयपुर में बेची जाती है और फिर दोबारा बेचने के लिए वापिस अमृतसर की मंडी में आती है, को यहीं प्रोसैस करके घरेलू खपत के लिए स्पलाई किया जा सके। स्पीकर ने अधिकारियों से कहा कि क्षेत्र की मिर्च के लिए प्रोसैसिंग प्लांट और मिर्च सुखाने के लिए ड्रायर लगाने, नई किस्मों के लिए खोज केंद्र और कोल्ड स्टोरेज चेन जैसी सुविधाओं के लिए संभावनाएं ढूंढी जाए। उन्होंने कहा कि वह एक महीने के बाद प्रगति की समीक्षा करेंगे।

किसानों को फसल विविधिकरण के लिए प्रोत्साहित करने के लिए पंजाब एग्रो एक्सपोर्ट कार्पोरेशन के जनरल मैनेजर रणबीर सिंह को आदेश दिए कि वह मिर्च के दाम तय करते समय किसानों के प्रतिनिधियों को शामिल करें। इसके साथ ही उन्होंने एकजुट होकर मिर्च का मूल्य तय करने के लिए किसानों की सराहना भी की। स्पीकर ने पंजाब मंडी बोर्ड सचिव अमृत गिल को पहल के आधार पर मंडियों के फड पक्के करने को कहा। मंडियां किसानों के लिए बनाई गई हैं, इसलिए यह सुनिश्चित किया जाए कि मंडियों का अधिक से अधिक उपयोग किसान करें ना कि व्यापारी वर्ग को पहल देकर किसानों की उपेक्षा की जाए। विधायक गुरुहरसहाय स. फौजा सिंह सरारी, विधायक फिरोजपुर शहरी स. रणबीर सिंह, विधायक धर्मकोट स. दविंदरजीत सिंह लाडी ढोस, विधायक जीरा श्री नरेश कटारिया, विधायक फरीदकोट गुरदित सिंह सेखों, पंजाब एग्रो एक्सपोर्ट कारपोरेशन के चेयरमैन मंगल सिंह, बागवानी विभाग के सचिव स. अर्शदीप सिंह थिंद और डायरैक्टर शैलेंद्र कौर और मिर्च पट्टी के किसान हरदीप सिंह, बलविंदर सिंह, लखविंदर सिंह व अन्य थे।