डॉ. तरूण प्रसाद 2023 05 12T135811.119

मानव मंगल स्मार्ट स्कूल मोहाली और डॉ. जीसी मिश्रा मेमोरियल एजुकेशन एवं चैरिटेबल ट्रस्ट ने 11वां मां सम्मान समारोह कराया

चंडीगढ़ दिनभर

चंडीगढ़। जिंदगी में मिली हर चुनौती का डट कर सामना कर अपने बच्चों को मंजिल तक पहुंचाने वाली 10 मांओं को मां सम्मान समारोह में सम्मानित किया गया। मानव मंगल स्मार्ट स्कूल, मोहाली और डॉ. जीसी मिश्रा मेमोरियल एजुकेशन एवं चैरिटेबल ट्रस्ट की ओर से स्कूल के सभागार में मदर्स डे के उपलक्ष्य में ग्यारहवें मां सम्मान समारोह का आयोजन किया गया। सम्मान समारोह में हरियाणा के राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय ने चंडीगढ़ के मेयर अनूप गुप्ता की मौजूदगी में जब संघर्षशील माओं का सम्मान किया तो सभागार में बैठे हर किसी की आंखे उनकी संघर्ष की कहानी सुनकर नम हो गई। समारोह की शुरुआत दीप प्रज्वलन के साथ हुई।

इस अवसर पर मानव मंगल स्मार्ट स्कूल के छात्र-छात्राओं ने रंगारंग प्रस्तुति दी जिसमें। इस भावपूर्ण प्रस्तुति ने सभागार में बैठे सभी लोगों की आंखों को नम कर दिया। समारोह में ट्राईसिटी के अलावा पंजाब और हरियाणा की ऐसी माओं का भी सम्मान किया गया जिन्होंने चुनौतियों से लोहा लेते हुए अपने दम पर जिंदगी जीने का हौसला रखा। यह वह माएं हैं जिन्होंने तमाम मुश्किलों या विपरीत परिस्थितियों में मजबूती से हर बाधा को पार किया और अपने बच्चों के सपनों को पूरा किया। इन सभी माओं के संघर्ष की अलग अलग कहानी है। किसी ने अपने पति के देहांत के बाद हिम्मत न हारते हुए अपने बच्चों के सपने को पूरा किया तो किसी ने विपरीत परस्थितियों में अपने दिव्यांग बच्चों को हौसला देकर आगे बढ़ाया ताकि वे अपनी काबलियत का परिचय सबको दे सकें। जिन मांओं का सम्मान किया उनमें चंडीगढ़ की सरोज कुमारी, पंचकूला की रानी गुप्ता, मोहाली की बीना जोशी, चंडीगढ़ की इंदु लता देवी, मोगा की कुलंवत कौर संधू, चंडीगढ़ की हरजिंदर कौर, अंबाला की राज कुमारी और चंडीगढ़ की अनीता कुमारी शामिल हैं।

समारोह में सातवां मदर ऑफ द ईयर का पुरस्कार मोहाली की रेणु कक्कड़ को दिया गया। मोहाली के संत कबीर फाउंडेशन की संचालक रेणु कक्कड़ उन 15 मानसिक रूप से दिव्यांग बच्चों की मां हैं जिनकी पूरी जिम्मेदारी वह बखूबी निभा रहीं हैं। वहीं, भारत की क्रिकेट टीम के बाएं हाथ के तेज गेंदबाज और आईपीएल सीजन में पंजाब किंग्स की तरफ से खेलने वाले खरड़ के निवासी अर्शदीप सिंह को इस मुकाम तक पहुंचाने में उनकी मां बलजीत कौर को भी सम्मानित किया गया। इस मौके पर राज्यपाल ने छात्र-छात्राओं से आहवान किया कि वे चाहें कितने बड़े पद पर क्यों न पहुंच जाएं उन्हें अपनी मां को हमेशा याद रखना चाहिए। इस दौरान राज्यपाल ने अपनी मां के संघर्ष को याद किया कि किस तरह से उनके पिता के निधन के बाद उनकी मां ने संघर्ष किया था। समारोह में जिन माओं को सम्मान हुआ उन्होंने शुभकामनाएं देते हुए राज्यपाल ने कहा कि इन माओं के संघर्ष को वह सलाम करते हैं।

समारोह में मानव मंगल ग्रुप ऑफ स्कूल के डॉयरेक्टर संजय सरदाना, मानव ग्रुप ऑफ स्कूल्स के एसोसिएट डॉयरेक्टर संकल्प सरदाना, डॉ. जीसी मिश्रा मेमोरियल एजुकेशन एवं चैरिटेबल ट्रस्ट के मैनेजिंग ट्रस्टी मयंक मिश्रा भी मौजूद थे। मां सम्मान समारोह में मंच का संचालन उमा महाजन ने किया। ध्यान रहे कि डॉ. जीसी मिश्रा मेमोरियल एजुकेशन एवं चैरिटेबल ट्रस्ट की ओर से मानव मंगल स्मार्ट स्कूल के साथ 11 सालों से मदर्स डे पर सम्मान समारोह आयोजित किया जा रहा है। डॉ. मिश्रा पीयू से रिटायर हुए थे, उन्हीं की याद में उनके पुत्र मयंक मिश्रा ने इस ट्रस्ट का गठन किया गया।