डॉ. तरूण प्रसाद 2023 04 27T110948.741

सड़क ब्लॉक कर ट्रैफिक को बाधित करने पर सेक्शन 268, 431, 339 और 341 के तहत हो सकता है मामला दर्ज

चंडीगढ़ दिनभर

चंडीगढ़ सड़क ब्लॉक दिखे तो रास्ता बदल लेना। यदि आप सोच रहे हैं कि चंडीगढ़ पुलिस को कंप्लेंट करने से इस समस्या का समाधान हो जाएगा तो आपकी गलत-फहमी है। सेक्टर-26 स्थित पुलिस लाइन गेट नम्बर 1 के सामने कुछ लोगों ने सड़क के बीचोबीच आलू-प्याज की बोरियां उतार रास्ता ब्लॉक कर रखा है। इस बारे में चंडीगढ़ पुलिस को पता है। लेकिन कार्रवाही नहीं करते। सड़क को ब्लॉक करने वाले लोगों के खिलाफ मार्केट कमेटी के आढ़ती भी कई बार शिकायत कर चुके हैं लेकिन समस्या जस के तस बनी हुई है। आलम यह है कि सुबह तड़के से सड़क पर हजारों प्याज और आलू की बोरियों को उतार कर सड़क को ब्लॉक कर दिया जाता है, जिस कारण आने जाने वाले लोगों को परेशानी होती है।

नियमों के अनुसार अगर कोई व्यक्ति सड़क को ब्लॉक कर ट्रैफिक को बाधित करता है तो उसके खिलाफ 268, 431, 339 और 341 के तहत मामला दर्ज हो सकता है। वहीं स्थानिय पुलिस भी अनदेखी कर रही है। सेक्टर 26 स्थित पुलिस लाइन गेट नम्बर 1 के सामने वाली सड़क को ब्लॉक कर रखी सैकड़ों आलू प्याज की बोरियों के बारे में एसएसपी ट्रैफिक से लेकर ट्रैफिक हेल्पलाइन के व्हाट्सएप्प नम्बर पर बताया गया लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। ट्रैफिक पुलिस के फेसबुक पेज पर सड़क ब्लॉक करने की फोटो को शेयर किया गया। उनका जवाब आया कि वह इस बारे में सेक्टर 26 पुलिस स्टेशन को सूचित कर रहे हैं। जल्द ही सड़क से आलू व प्याज की बोरियों को हटा दिया जाएगा लेकिन ऐसा नहीं हुआ।

सेक्टर-26 की सड़कों पर कुछ लोगों ने अवैध कब्जे कर रखे हैं लेकिन हैरानी कि बात है कि वहां के बीट इंचार्ज की ओर से भी कोई कार्रवाई नहीं की जाती। इस कारण सब्जीमंडी में बनी सड़के कब्जाधारियों का अड्डा बन चुकी है। स्थानीय पुलिस की जिम्मेवारी बनती है कि अगर कोई व्यक्ति सड़क ब्लॉक करता है तो तुरंत उस पर कानूनी कार्रवाई होनी चाहिए।