सीएम सुक्खू

मुख्यमंत्री ने बुलाई थी बेटियां, विधानसभा अध्यक्ष कुलदीप पठानिया ने समझाई संसदीय कार्यप्रणाली

चंडीगढ़ दिनभर

शिमला विधानसभा बजट सत्र में मंगलवार को मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू ने बालिका आश्रम टुटीकंडी की छात्राओं को विधानसभा देखने के लिए बुलाया था। इन छात्राओं ने पहले सदन की कार्यवाही देखी और उसके बाद मुख्यमंत्री ने इन्हें लंच भी करवाया। विधानसभा परिसर में सदन की कार्यवाही देखने से पूर्व इन बच्चों से विधानसभा अध्यक्ष कुलदीप सिंह पठानिया ने मुलाकात की। इस दौरान छात्राओं ने विधानसभा अध्यक्ष से होने वाली कार्यवाही के बारे में पूछा तथा संसदीय प्रणाली की जानकारी ली। इस अवसर पर पठानिया ने छात्राओं को अपनी शुभकामनाएं देते हुए कहा कि लोकसभा तथा विधानसभा लोकतंत्र के सबसे बड़े मंदिर हैं तथा आज के युवा जिस तरह संसदीय प्रणाली की ओर आकर्षित हो रहे हैं, उससे लोकतंत्र की मजबूती को और बल मिलेगा।

उन्होंने कहा कि सदन ही एक ऐसा सर्वोत्तम स्थान है, जहां चुने हुए प्रतिनिधि जनहित से जुड़े मुद्दों को उठा सकते हैं तथा उनका समाधान भी संभव हो पाता है। इस अवसर पर पठानिया ने छात्राओं से लोकतांत्रिक प्रणाली को गहनता से अध्ययन करने का आग्रह किया। बच्चों ने मुख्यमंत्री ठाकुर सुखविंदर सिंह सुक्खू के साथ दोपहर भोज का आनंद भी लिया। गौर हो कि मुख्यमंत्री सत्ता संभालने के बाद से ही अनाथ बच्चों के कल्याण के लिए निरंतर प्रयास कर रहे हैं। सरकार ने अनाथ बच्चों के कल्याण के लिए मुख्यमंत्री सुख-आश्रय योजना आरंभ की है।