डॉ. तरूण प्रसाद 2023 04 14T162047.613

चंड़ीगढ़ दिनभर

चंडीगढ़ । सेवा ही सेवा ट्रस्ट पहले से ही आंखों का अपना फ्री अस्पताल चला रहा था, जहां नि:शुल्क ऑपरेशन किए जाते हैं, वहां अब अत्याधुनिक मशीनें भी लग चुकी हैं। सेवा ही सेवा चैरिटेबल अस्पताल, पंचकूला को वाल्को इंडस्ट्रीज लिमिटेड, चंडीगढ़ से लगभग 40 लाख रुपए लागत वाली तीन अत्याधुनिक नेत्र उपचार मशीनें दान में प्राप्त हुई हैं। सेवा ही सेवा चैरिटेबल ट्रस्ट द्वारा प्रबंधित यह अस्पताल, एससीओ 27, सेक्टर 11, पंचकूला के बैक साइड में स्थित है। नई स्थापित मशीनों में आंखों की जांच के लिए एक ओसीटी मशीन (जो आंखों के पर्दे की जांच के लिए इस्तेमाल होती है), दूसरी एनसीटी मशीन (जो आंखों के प्रेशर को चैक करती है), और तीसरी यार्ग लेसर मशीन (जो ऑपरेशन के बाद जो आंखों में बनने वाली झिल्ली को क्लीन करती है) शामिल है।

ट्रस्ट के सेवादार, रमेश अग्रवाल ने कहा कि सेवा ही सेवा चैरिटेबल अस्पताल का शुभारंभ 1 अगस्त 2021 को ज्ञानचंद गुप्ता ने किया था, जहां जरूरतमंद मरीजों को कई प्रकार की मेडिकल जांच के अलावा दवाइयां भी मुफ्त मुहैया कराई जाती हैं। इसके नेत्र चिकित्सालय में पहले आओ पहले पाओ के आधार पर मोतियाबिंद का नि:शुल्क ऑपरेशन किया जाता है। यह नेत्र चिकित्सालय इस क्षेत्र में सबसे अच्छी सुविधाओं में से एक हो गया है। इसमें एक पूर्ण सुसज्जित आई सर्जरी थिएटर है। चिकित्सालय में गत 8 माह में कुल 325 रोगियों को संतोषजनक नेत्र ऑपरेशन के साथ फ्री में लेंस प्रदान किए गए।