डॉ. तरूण प्रसाद 2023 05 10T111424.347

अमेरिकी फिल्ममेकर्स व प्रोडक्शन हाउस को किया अपनी क्रिएटिविटी से प्रभावित

चंडीगढ़ दिनभर

चंडीगढ़। युवा प्रतिभा हंसजीत दुग्गल ने अपने विजुअल इफेक्ट आर्ट के माध्यम से अमेरिकी निर्देशिकों के साथ काम कर एक प्रतिष्ठित फिल्म प्रोजेक्ट में अपना महत्वपूर्ण योगदान देकर अपने शहर चंडीगढ़ का मान बढ़ाया है। 33 वर्षीय हंसजीत ने जाने माने निर्देशक बेन एफ्लेक द्वारा निर्देशित और एलेक्स कॉनवरी द्वारा लिखित अमेरिकी जीवनी पर अधारित स्पोर्ट्स ड्रामा फिल्म – ‘ऐयर’ में विजुअल इफेक्ट्स निदेशक के रुप में सेवायें देकर अपनी प्रतिभा का परिचय दिया है। यह फिल्म ऐयर जॉर्डन जो कि एक बास्केटबाल शूलाईन की उत्पति के विषय में सच्ची घटनाओं पर अधारित है। फिल्म अमेरिका में अप्रैल माह में रिलीज की जा चुकी है जबकि विश्व के अन्य भागों में ऐमज़ॉन प्राइम के माध्यम से प्रसारित की जायेगी।

चंडीगढ़ प्रेस कल्ब में पत्रकारों से अमेरिकी फिल्ममेकर्स के साथ इस प्रोजेक्ट पर अपने अनुभव साझा करते हुये हंसजीत दुग्गल ने बताया कि यह प्रोजेक्ट अप्रैल 2022 में घोषित किया गया था और वे उस समय में अमेरिका में ही थे। आठ साल की उम्र से ही वीएफएक्स के प्रति लगाव रखने वाले हंसजीत, हमेशा आर्ट और टेकनोलोजी में नित नये प्रयोग करते रहते थे और जब अमेरिका में रहते हुये इस ‘ऐयर’ निर्माण में इसका हिस्सा बनने का मौका मिला तो उन्होंनें अपने बीस वर्ष के अनुभव को इसके लिये झोंक दिया। जटिल 400 से 500 वीएफएक्स शाट्स के साथ यह विजुअल मास्टरपीस फिल्म बनकर तैयार हुई है। हंसजीत जानते थे कि यह अपने आप में बड़ी चुनौती है परन्तु पहली बार इतने बड़ी टीम के साथ काम कर रहे इस युवा प्रतिभा ने निर्देशक व पूरे प्रोडक्शन हाऊस को निराश नहीं किया।

हंसजीत जिन्होंनें इस प्रोजेक्ट में लगभग 80 प्रोफेशनल्स की टीम का नेतृत्व किया, ने बताया कि उनकी प्रोडक्शन टीम एकदम नये कैमरा और कलर साईंस के साथ काम रहे थी जिसके लिये उनकी मांग भी शुरु से नये वर्कफ्लो की थी। हंसजीत ने भी नई कैमरा टेक्नोलॉजी को काबू करने में समय नहीं लगाया । लंबे और गहन समर्पण के बाद हंसजीत अपनी टीम के साथ इस प्रोजेक्ट को अंजाम दे पाये। उनके अधिकतम शॉट्स प्रोडक्शन द्वारा पहले दौर में ही पारित हो गये जबकि अन्य निर्देशक के मांग के अनुसार लयबद्ध किये गये।

इससे पूर्व जनवरी 2018 में हंसजीत ने बेल्जियम की राजधानी ब्रूसैल्स में आयोजित ‘स्टेरियोपेसिया’ नामक आयोजन में अपनी वर्चुअल रियेल्टी कला का बेहतरीन प्रदर्शन कर देश का मान बढ़ाया था। हालीवुड स्थित एडवांस इमेजिंग सोसायटी द्वारा आयोजित किये गये उस आयोजन में विश्वभर के विजुअल आर्टिस्टों में चयनित सर्वश्रेष्ठ दस प्रविष्टियों में हंसजीत ने दूसरे विश्व युद्ध के जर्मन घटनाक्रम – ‘फ्राईहाएट’ (जिसका जर्मन शाब्दिक अर्थ है अजादी) को अपना प्रोजेक्ट बनाया था और आयोजकों की वाहवाही लूटी थी।