डॉ. तरूण प्रसाद 2023 04 18T144025.687

सेक्टर-48 में डेढ़ एकड़ में बना है वेस्ट टू वंडर पार्क

चंडीगढ़ दिनभर

चंडीगढ़ । ट्रांसफॉर्मर मूवी तो आपने देखी ही होगी। वो ही मूवी जिसमें कारें अचानक बड़े-बड़े रोबोट बन जाती हैं। अब ऐसे ही रोबोट आ चुके हैं आपके शहर चंडीगढ़ में। फर्क सिर्फ इतना है कि ये अपना रूप नहीं बदल सकते। लेकिन इनको बनाया गया है कार व गाडिय़ों के कलपुर्जों (पाट्र्स) से ही। इनसे मिलना है तो आपको जाना पड़ेगा सेक्टर-48 के वेस्ट वंडर पार्क में जो कुछ दिन पहले ही जनता के लिए खोला गया है। 18 से 20 फीट ऊंचे ये रोबोट बच्चों को काफी अचंभित करते हैं। देखकर लगता है मानो ट्रांसफार्मर के रोबोट ही पार्क में उतर आए हैं क्योंकि इनकी बनावट भी बिलकुल वैसी ही है। कारों के रिम, चेन, शॉकर्स का उपयोग किया गया है इन्हें बनाने में। सेक्टर-48 में मोटर मार्केट के पास में मौजूद है मोटर पाट्र्स के वेस्ट से डेढ़ एकड़ में बना हुआ ये वेस्ट वंडर पार्क। जबसे ये पार्क खुला है बच्चों की खूब भीड़ लगी रहती है इनके आसपास।
नन्हे-मुन्नों के लिए झूले, ओपन जिम, वॉकिंग ट्रेक जैसी सभी सुविधाएं मौजूद हैं इस वंडर पार्क में। सांप काटेगा तो सीढ़ी भी मिलेगी… सांप-सीढ़ी का प्लेटफार्म भी तैयार किया है यहां पर, जहां बच्चे खूब मस्ती कर रहे हैं। सांप सीढ़ी खेले तो खूब हैं लेकिन अब गिट्टियों की जगह खुद को खड़ा करना और खेलने का अहसास ही अलग है। आप जैसे ही 99 पर पहुंचते हैं और वहां बैठा सांप आपको काटता है और आप 46 पर आ जाते हैं। फिर कुछ कदम चलते हैं और सीढ़ी मिलते ही लंबी छलांग लगाते हैं। ऐसा अहसास अब तक कार्ड बोर्ड पर ही करते थे लेकिन अब बच्चे खुद अहसास कर सकते हैं। साथ ही बच्चों को जिंदगी का एक सबक भी सिखाने के काम आता है ये खेल।जिंदगी में उतार-चढ़ाव आते रहे हैं बिलकुल इस खेल की तरह, लेकिन घबराएं नहीं। एक दिन जीत पक्की होगी मतलब आप लक्ष्य जरूर हासिल करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *