SPA

सेक्टर-8 की मार्केट में दो स्पा सेंटर की आड में चल रही थी जिस्मफिरोशी

चंडीगढ़ दिनभर

शहर की पॉश मार्केट सेक्टर-8। यहां पर दो अलग-अलग स्पा सेंटरों में विदेशी लड़कियों से जिस्मफिरोशी का धंधा चलाया जा रहा था। टूरिस्ट वीजा पर थाइलैंड और नॉर्थ ईस्ट से लड़कियों को बुलवाकर उससे देह व्यापार चलाया जा रहा था। डीएसपी सेंट्रल गुरमुख सिंह को जब इसका पता चला, तो उनकी अगुआई में फर्जी कस्टमर बनाकर भेजा गया, जिससे सारी कारगुजारी का खुलासा हुआ। पुलिस ने दोनों स्पा सेंटरों से कुल 18 लड़कियों को रेस्क्यू किया गया और 4 मास्टरमाइंड आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। आरोपियों को कोर्ट में पेश किया गया जहां से उन्हें 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया है।
आरोपियों की पहचान गुरमीत ङ्क्षसह, अतीक रहमान, विनोद उर्फ विक्की और विकास के रूप में हुई है। पुलिस ने जिन दो स्पा सेंटरों में रेड की थी उनके नाम गोल्डन लीफ और पिरामिड है।

डॉ. तरूण प्रसाद 2023 03 28T103115.643

वीजा की हो रही जांच

पुलिस ने जिन थाइलैंड की लड़कियों को रेस्क्यू किया है। वे सब इंडिया में टूरिस्ट वीजा पर आई थी और यहां स्पा सेंटरों के मालिकों ने उन्हें अपने रिकॉर्ड में कर्मचारी दिखा रखा है जो गैरकानूनी है। इसलिए अब इस केस में फॉरेन एक्ट की धारा भी लगाई जाएगी। दूसरी तरफ जिन लड़कियों को रेस्क्यू किया गया है, उन्हें वापस थाइलैंड डिपोर्ट करने की कार्रवाई पुलिस करेगी। नॉर्थ-ईस्ट की लड़कियों की जानकारी उनके परिजनों को दे दी गई है।

सूचना के बाद मारी गई रेड

जब से एसएसपी कंवरदीप कौर ने पदभार संभाला है तब से अपराधियों के खिलाफ नकेल कसी जा रही हैं। रात के समय नाइट चैकिंग भी शुरू कर दी गई और जो सेक्टर-8 में स्पा सेंटरों पर रेड की गई उसकी पुलिस को गुप्त सूचना मिली थी कि सेक्टर-8 में स्पा सेंटरों की आड में जिस्मफिरोशी का काम चल रहा है। इसके बाद एसएसपी की ओर से एक डीएसपी सेंट्रल गुरमख ङ्क्षसह की अगुवाई में टीम बनाई गई। फिर यहां रेड मारी गई। जहां आरोपियों को काबू किया गया।