Untitled design 6 1

चंडीगढ़। मंगलवार को चंडीगढ़ के खेल विभाग के सेक्टर 38 स्थित स्पोर्ट्स कांप्लेक्स में तैनात महेंद्र सिंह ने 3 महीने से वेतन न मिलने के कारण आत्महत्या कर ली थी। संज्ञान लेते हुए चंडीगढ़ प्रशासन ने फैसला किया हैं कि अब आउटसोर्स कर्मचारियों को समय पर वेतन मिलेगा। चंडीगढ़ एडमिनिस्ट्रेटर के सलाहकार राजीव वर्मा ने विभागों के साथ बैठक कर निर्देश दिए हैं। बता दें कि सेक्टर 38 स्थित स्पोर्ट्स कांप्लेक्स में तैनात महेंद्र सिंह ने 3 महीने से वेतन न मिलने के कारण आत्महत्या कर ली थी। उसकी पत्नी मोना भी सेक्टर 16 क्रिकेट स्टेडियम में आउटसोर्स पर कार्यरत है। मोना को भी 2 महीने से वेतन नहीं मिला था। गौरतलब हैं कि वेतन समय पर न मिलने के चलते कर्मचारियों की तरफ से कई बार प्रदर्शन भी किया गए और अधिकारियों को इस समस्या के बारे में लिखित में पत्र भी दिए गए लेकिन कोई कार्रवाही नही हुई थी। चंडीगढ़ एडमिनिस्ट्रेटर के सलाहकार राजीव वर्मा ने सभी विभागों में आउटसोर्सिंग और अनुबंध कर्मचारियों को मिलने वाले वेतन की प्रक्रिया के बारे में जानकारी ली है। एडवाइजर ने आउटसोर्स कर्मचारी के वेतन को समय पर रिलीज करने के बारे में वित्त सचिव को निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि ऐसा सिस्टम डेवलप किया जाए, जिससे किसी भी कर्मचारी को सैलरी मिलने में देरी न हो। करीब 18000 कर्मचारी ऐसे हैं जो आउटसोर्स या अनुबंध पर कार्यरत हैं।