डॉ. तरूण प्रसाद 2023 05 12T121123.803

पूर्व मुख्यमंत्री व नेता प्रतिपक्ष भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने की बैठक, 18 जून को पानीपत में होगा ‘जन मिलन समारोह’

चंडीगढ़ दिनभर

चंडीगढ़। ‘हाथ से हाथ जोड़ो’ अभियान को मिल रहे जबरदस्त समर्थन को देखते हुए हरियाणा कांग्रेस ने इसे 3 महीने और चलाने का फैसला किया है। अब मई, जून और जुलाई में यह कार्यक्रम चलेगा। कांग्रेस विधायक दल की बैठक में यह फैसला लिया गया। बैठक की अध्यक्षता पूर्व मुख्यमंत्री व नेता प्रतिपक्ष भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने की। बैठक में प्रदेश अध्यक्ष चौधरी उदयभान और राज्यसभा सांसद दीपेंद्र हुड्डा भी विशेष तौर पर मौजूद रहे। 13 मई को हरियाणा कांग्रेस के सभी विधायक पहलवानों को समर्थन देने के लिए जंतर-मंतर पर जाएंगे। 4 जून को रोहतक के ओल्ड आईटीआई ग्राउंड में संत कबीर जयंती के मौके पर राज्य स्तरीय कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा। 18 जून को पानीपत में ‘जन मिलन समारोह’ रखा जाएगा। आठवां ‘विपक्ष आपके समक्ष’ कार्यक्रम 25 जून को भिवानी में होगा।

बैठक के बाद पत्रकारों को संबोधित करते हुए भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने कहा कि कांग्रेस अलग-अलग कार्यक्रमों के जरिए लगातार जनता के बीच पहुंच रही है। जबकि, सरकार को जनसंवाद की याद तब आई है, जब चुनाव नजदीक आ गए। नेता प्रतिपक्ष ने आबकारी विभाग को लेकर सीएजी की रिपोर्ट में हुए खुलासों का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा कि सरकार के पास शराब के उत्पादन, बिक्री और आय का कोई रिकॉर्ड नहीं है। सबसे गंभीर बात यह है कि हरियाणा में जो शराब बेची जा रही है, उसकी यह जांच भी नहीं हो रही है कि वो पीने लायक है भी या नहीं। बार-बार अनियमितताएं सामने आने के बावजूद अब तक आबकारी विभाग ने क्यूआर कोड से लेकर सीसीटीवी मॉनिटरिंग तक की व्यवस्था नहीं की। सरकार द्वारा आबकारी आय का जो लक्ष्य रखा जाता है, उसके मुकाबले बहुत कम राजस्व प्राप्त होता है। सीएजी ने आबकारी विभाग में बड़ी अनियमितताओं का खुलासा किया है। पारदर्शिता का दावा करने वाली सरकार हर मोर्चे पर विफल साबित हो रही है।

पोर्टल को लेकर पूछे गए सवाल के जवाब में हुड्डा ने कहा कि डिजिटलाइजेशन कांग्रेस सरकार के दौरान शुरू हुआ था। लेकिन इसका मकसद जनता को सहूलियत देना था। जबकि बीजेपी ने ‘मेरी फसल, मेरा ब्योरा’, प्रॉपर्टी आईडी और फैमिली आईडी जैसी व्यवस्थाएं बनाकर जनता को परेशान करने का काम किया। इसके जरिए बुजुर्गों की पेंशन, गरीबों के राशन व कल्याणकारी योजनाओं को बंद किया जा रहा है। इसलिए कांग्रेस सरकार बनने पर ऐसे सभी पोर्टल को बंद किया जाएगा, जो जनहित में नहीं है। डिजिटलाइजेशन का इस्तेमाल जनता को सहूलियत देने के लिए होगा। साथ ही उन्होंने दोहराया कि कांग्रेस सरकार बनने पर बुजुर्गों को डंके की चोट पर 6 हजार रुपये पेंशन दी जाएगी। कांग्रेस जो वादा करती है, उसे निभाती है। जबकि जेजेपी ने अपने मेनिफेस्टो में जो वादा किया था, वो उससे पीछे हट गई है। बीजेपी लगातार कह रही है कि यह उसकी सरकार है। ऐसे में सवाल उठता है कि जेजेपी बीजेपी को क्यों समर्थन दे रही है और बीजेपी जेजेपी से क्यों समर्थन ले रही है। क्योंकि यह स्वार्थ के आधार बना गठबंधन है, इसे जनता के हित से कोई सरोकार नहीं है।

चौधरी उदयभान ने कहा कि कांग्रेस पर सवाल उठाने वाली बीजेपी खुद भयंकर गुटबाजी का शिकार है। बीजेपी में अनिल विज, राव इंद्रजीत सिंह, चौधरी बीरेंद्र सिंह, कृष्ण पाल गुर्जर, अरविंद शर्मा और रमेश कौशिक जैसे कई गुट बने हुए हैं। खुद की अंदरूनी कलह पर पर्दा डालने के लिए बीजेपी बार-बार कांग्रेस के बारे में भ्रामक बयानबाजी करती है। उन्होंने कहा कि बीजेपी में गुटबाजी के साथ-साथ भगदड़ भी है। लगातार सत्ताधारी दलों को छोड़कर नेता कांग्रेस ज्वाइन कर रहे हैं। कांग्रेस का कुनबा लगातार विस्तार लेता जा रहा है।