डॉ. तरूण प्रसाद 2023 05 06T155912.301

सीटीयू के बेड़े को मजबूत करने के लिए प्रशासक बनवारी लाल पुरोहित ने राजभवन से 20 एचवीएसी बसों को हरी झंडी दिखाई

चंडीगढ़ दिनभर

चंडीगढ़। अंतरराज्य मार्गों पर सीटीयू के बेड़े को मजबूत करने के लिए यूटी प्रशासक बनवारी लाल पुरोहित ने पंजाब राजभवन से 20 एचवीएसी बसों को हरी झंडी दिखाई। नवीनतम तकनीक वाले इलेक्ट्रॉनिक नियंत्रित डीजल इंजन हैं। बसों में एयरवेंट्स के साथ हीटिंग और एयर कंडीशनिंग सिस्टम होगा। बस के अंदर लगे सीसीटीवी कैमरे, चालक के व्यवहार के लिए एक डैशबोर्ड कैमरा और एक रिवर्स कैमरा। आपात स्थिति में जीपीएस डिवाइस और पैनिक बटन। सीटों की प्रत्येक पंक्ति के लिए मोबाइल चार्जिंग पॉइंट से लैस हैं। ये 20 एचवीएसी बसें अंतर-राज्यीय सीटीयू बेड़े को 178 बसों (119 एचवीएसी+59 गैर एसी) तक मजबूत करती हैं।

दैनिक परिचालन में लगभग वृद्धि करती हैं। करीब 64000 किमी अभी तक चंडीगढ़ परिवहन उपक्रम के पास 330 बसों का बेड़ा है। 330 बसों में से 158 बसें विभिन्न अंतरराज्यीय रूटों पर चल रही हैं। इनमें खाटूश्याम जी, सालासर जी, टनकपुर, हल्द्वानी, अमृतसर, हरिद्वार, शिमला, मनाली, दिल्ली, रेवाड़ी, नारनौल, रोहतक, हिसार को जोड़ती हैं। देहरादून, कटरा, जयपुर आदि हर दिन लगभग 55,000 किलोमीटर की दूरी तय करती हैं। बसों के लिए नवंबर, 2022 में कर सहित 11.20 करोड़ रुपए की 20 एचवीएसी बसों की खरीद के लिए मैसर्स अशोक लेलैंड के साथ समझौते पर हस्ताक्षर किए गए थे। इसमें प्रत्येक बस 55.98 लाख रुपए की पड़ी है। 20 नई बसें आईएसबीटी 43 से पांवटा साहिब से ऋ षिकेश सुबह 5.30 बजे चलेगी।

आईएसबीटी 43 से कटरा वाया ऊना, तलवाडा, आईएसबीटी 17 से दिल्ली से फरीदाबाद के रास्ते वृंदावन, चंडीगढ़ से चंबा, चंडीगढ़ से वाया फरीदाबाद से आगरा के साथ पंजाब व हरियाणा के कुछ रुटों पर एसी बसों को चलाया जा रहा है, जहां यात्रियों की मांग ज्यादा है। सीटीयू की एसी बसों में गर्मियों के सीजन में हिमाचल के साथ दिल्ली और दूसरे खाटूश्याम जी, सालासर जी, टनकपुर, हल्द्वानी, अमृतसर, हरिद्वार रुटों पर ज्यादा मांग होती है। इस दौरान प्रशासक के सलाहकार धर्मपाल, गृह सचिव नीतिन कुमार यादव, सीटीयू के निदेशक प्रद्युमन सिंह, वित्त सचिव, निगम मेयर मौजूद थे।