Untitled design 1 13

अजीत झा, चंडीगढ़ दिनभर: एक ही दिन में अलग-अलग थानों में धोखाधड़ी के चार मामले दर्ज किए गए हैं। प्लॉट बेचने, इंवेस्ट करने, विदेश भेजने के अलावा प्रॉपट्री हड़पने के नाम पर कुल करोड़ों की ठगियां की गई है। हालांकि पुलिस चारों मामलों की जांच शुरू कर दी है।
पहला मामला : सेक्टर-49 स्थित पुष्पक कांप्लेक्स निवासी सुरिन्द्र ठाकुर ने पुलिस को बताया कि किसी ने उसे व्हाट्स ग्रुप पी15 स्टॉक मार्किट एक्सचेंज क्लब में एड कर लिया और उसके बाद उसे वहां पर रुपए निवेश करने पर भारी मुनाफे का झांसा दिया गया। 16 फरवरी से 25 मार्च तक उन्होंने 3 करोड़, 66 लाख 25 हजार रुपए निवेश कर दिए, लेकिन बाद में वह वहां से अपने रुपए निकलवा ही नहीं पाए। जिसके चलते उन्होंने पुलिस को शिकायत दी। शिकायत के आधार पर साइबर थाना पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी।
दूसरा मामला: लखनऊ निवासी राम दियो ने पुलिस को बताया कि 2012 में उन्होंने सैक्टर-17-सी के एससीओ नंबर-139-141 स्थित मनोहर इंफ्रास्टर एंड कंस्ट्रक्शन प्राइवेट लिमिटेड के तरनिन्द्र सिंह व नरिन्द्रबीर सिंह को पाल्म गार्ड, मुल्लांपुर, न्यू चंडीगढ़ में 250 स्कॉयर यार्ड प्लॉट के लिए 23 लाख 75 हजार रुपए दिए थे, लेकिन आरोपियों ने न तो प्लॉट दिया और न ही उसके रुपए लौटाए, जिसके चलते उन्होंने पुलिस को शिकायत दी।
शिकायत के आधार पर सैक्टर-17 थाना पुलिस ने उक्त आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज किया। पुलिस का कहना है कि जल्द ही आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।
तीसरा मामला : सैक्टर-15 निवासी एक महिला ने पुलिस को शिकायत दी कि उनके पिता राम नाथ शर्मा की मृत्यु के बाद 15 मई-1982 को राजिन्द्र पाल शर्मा व अन्य ने फर्जी वसीयत तैयार कर उनकी प्रॉपट्री हड़पने का प्रयास किया। महिला की शिकयत पर सैक्टर-17 थाना पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज कर आगे की कार्रवाई शुरू कर
दी है।
चौथा मामला : धनास की मिल्क कालोनी निवासी लवदीप बांगड़ ने पुलिस को शिकायत दी कि जीरकपुर के सिटी एन्क्लेव निवासी विनोद, विजय व अन्य ने उसे कनाडा भेजने के लिए 2 लाख रुपए लिए थे, लेकिन आरोपियों ने न तो विदेश भेजा और न ही रुपए लौटाए। इसके बाद उसने पुलिस को शिकायत दी। शिकायत के बाद सारंगपुर थाना पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज कर मामले की आगामी कार्रवाई शुरू कर दी है।