डॉ. तरूण प्रसाद 2023 05 27T131418.969

चंडीगढ़ दिनभर

चंडीगढ़ कब्जाधारियों में पुलिस व प्रशासन लाइन के गेट नंबर-1 के बिलकुल सामने वाली रोड की। चंडीगढ़ पुलिस के जवान, अफसर यहीं से दिन में कई बार यहां से गुजरते होंगे, लेकिन उन्हें न तो कब्जे दिखते हैं और न ही आधी सड़क पर फैली गंदगी।

राहगीरों के चलने के लिए पक्के थड़े बनाए गए थे, लेकिन कब्जाधारियों ने उन्हें बपौती समझ उनके ऊपर आलू-प्याज की बोरियां उतार रखी हैं। परेशान लोग कोसकर, मन ही मन गाली देकर दिल हल्का कर लेते हैं कि सब मिलीभगत है, हर जगह पैसा बोलता है। अगर लोगों की ये सोच है तो संबंधित विभागों को इसपर बहुत गंभीरता से सोचना होगा। हमारा सवाल, म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन, चंडीगढ़ पुलिस और मार्केट कमेटी से है, कि इस गंदगी को आखिर कौन साफ करेगा?