डॉ. तरूण प्रसाद 2023 08 07T143637.873

प्रशासन और कंपनियों के व्यवहार से कैब ड्राइवर परेशान, चंडीगढ़ की सड़कों पर बिना पुलिस पड़ताल के दौड़ रहीं हैं कैब

चंडीगढ़ दिनभर

चंडीगढ़। अपने साथी कैब ड्राइवर की हत्या के बाद अपनी सुरक्षा एवं मांगों को लेकर चंडीगढ़, मोहाली और पंचकुला में कैब ड्राइवर 10 अगस्त से सेक्टर 25 में अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल शुरू करने की तयारी में हैं । आज यहां एकत्र हुए कैब ऑटो यूनियन फ्रंट के पदाधिकारियों ने कहा कि लोगों को बेहतर यात्रा सुविधाएं मुहैया कराने वाली कैब कंपनी ओला, उबर और इन-ड्राइवर कंपनियों के ड्राइवर इस समय असुरक्षा के कारण भूख हड़ताल पर बैठने को मजबूर हैं। उक्त ड्राइवरों की यूनियन का कहना है कि कंपनियों द्वारा टैक्स, कमीशन, किराया और सुरक्षा को लेकर उन्हें खुलेआम शर्मिंदा किया जा रहा है।

जिसके कारण कई वाहन चालक कर्ज के बोझ तले दब गए हैं और कई तो इस समस्या के कारण अपनी जान गवां चुके हैं। यूनियन के प्रवक्ता इंद्रजीत सिंह ने कहा कि कंपनियों के उदासीन व्यवहार के कारण उनके कई सदस्यों को आपराधिक किस्म के लोगों ने अपनी साजिश का शिकार बनाकर मार डाला। उन्होंने कहा कि इस संबंध में उन्होंने कई बार चंडीगढ़ प्रशासन से अनुरोध किया, लेकिन प्रशासन ने उनकी समस्या को गंभीरता से नहीं लिया जिससे कंपनियों का दिमाग और खराब हो गया। उन्होंने कहा कि प्रशासन की उदासीनता और कंपनियों के खराब व्यवहार के खिलाफ वह 10 अगस्त से सेक्टर 25 में अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल शुरू करेंगे।

उन्होंने कहा कि ट्राइसिटी की सड़कों पर कंपनियां बिना पुलिस जांच के ड्राइवरों के साथ प्राइवेट नंबर गाड़ियां चलवा रही हैं, जिसकी शिकायत समय-समय पर प्रशासन और पुलिस अधिकारियों से की गई है, लेकिन कार्रवाई न होने के कारण अपराधी किस्म के लोग कैब चला रहे हैं और जो ड्राइवर ईमानदारी व् सारे कानूनों की पालना कर गाड़ी चलाकर अपना गुजारा कर रहा है उनके लिए परेशानी पैदा कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि पिछले माह कैब चालक धर्मपाल की हत्या के मामले में पुलिस की सुस्त कार्रवाई के कारण सभी कैब चालकों में भय का माहौल है।

उन्होंने कहा कि कैब चालक यूनियन उन्हें न्याय दिलाने के लिए एकजुट है। पीड़ित परिवार को संघर्ष दिलाने से पीछे नहीं हटेंगे। उन्होंने चेतावनी दी कि अगर कैब चालकों की जायज मांगों पर ध्यान नहीं दिया गया, तो वे अपना आंदोलन तेज कर देंगे। इस मौके पर यूनियन के पदाधिकारियों के अलावा इंद्रजीत सिंह, अमनदीप सिंह, सोमवीर सिंह और अनिल कुमार के अलावा बड़ी संख्या में कैब ड्राइवर उपस्थित थे।