डॉ. तरूण प्रसाद 2023 04 21T103516.575

ऑपरेशन सेल ने मार्च में आरोपी को दबोचा था

चंडीगढ़ दिनभर

चंडीगढ़ बाउंसर सुरजीत हत्या मामले में मलोया थाना पुलिस आरोपी कमलदीप उर्फ किम्मी को 2 दिन के प्रोडेक्शन लेकर आई है। आरोपी किम्मी को पहले चंडीगढ़ ऑप्रेशन सेल ने गिरफ्तार किया था, जिसमें उसने कहा कि मार्च 2020 में सुरजीत बाउंसर की हत्या में वह पूरी तरह इन्वॉल्व रहा है और मलोया स्थित खेतों में वह एक रेस्तरां और अवैध हुक्का चलाता है।
2020 में कनाडा से उसे खुड्डा लाहौरा निवासी प्रिंस ने कॉलकर कहा कि लक्की पटियाल के दो साथी तेरे पास आएंगे।
उनका ख्याल रखना। दोबारा फोन आया कि शूटर नीरज चस्का और दीपक मान उर्फ मनी सेक्टर-38 में खड़े हैं उन्हें पिक करो। मलोया निवासी मुकुल उसके पास पहुंचा और कहा कि सुरजीत को मारना है। किम्मी और मुकुल दोनों सुरजीत के जानकार थे। मुकुल और किम्मी ने रेकी की और चस्का और मान ने सुरजीत की हत्या। हत्या के वक्त मुकुल सीन देख रहा था।

बंबीहा ग्रुप के सदस्यों ने किया था खुलासा

इंटेरोगेशन में आरोपी अमन ने खुलासा किया कि बंबीहा ग्रुप सिर्फ लक्की पटियाल ही नहीं, बल्कि खुड्डा लाहौरा निवासी प्रिंस भी चला रहा है, जो कनाडा में है। प्रिंस ने कुछ दिन पहले उसे फोन कर कहा था कि उसका जम्मू-कश्मीर में लिंक है तो बता। ताकि वहां से एके-47 मंगवानी है और मूसेवाला की हत्या का बदला ले सकें। पंजाबी सिंगर बब्बू मान और मनकीरत औलख की हत्या भी करनी है। अमन ने कहा कि जो पिस्टल बरामद हुई है और अमन ने कहा कि वह डर गया और जम्मू एंड कश्मीर जाने से मना कर दिया। इस दौरान प्रिंस ने फिर उसे कहा कि मलोया का रहने वाला मुकुल उसे तीन हथियार देगा, जिससे गगन बाउंसर और बलजीत चौधरी की हत्या करो।