डॉ. तरूण प्रसाद 2023 04 12T105230.382

तीन दिवसीय फार्मा टेक एक्सपो चंडीगढ़ में शुरू, 250 कंपनियां ले रहीं भाग

चंडीगढ़ दिनभर

चंडीगढ़ फार्माटेक एक्सपो और लैबटेक एक्सपो 2023 आज चंडीगढ़ के सेक्टर-17 के परेड ग्राउंड में शुरू हुआ। तीन दिवसीय एक्सपो जिसे फार्माटेक्नोलॉजीइंडेक्स.कॉम प्राइवेट लिमिटेड द्वारा इंजीनियरिंग एक्सपोर्ट प्रमोशन काउंसिल ऑफ़ इंडिया (ई.ई.पी.सी. इंडिया) के सहयोग से आयोजित किया गया है। फार्माटेक एक्सपो और लैबटेक एक्सपो 2023 उत्तर भारत का सबसे बड़ा आयोजन है जो फार्मास्युटिकल इनोवेशन और टेक्नोलॉजी और ज्ञान को समर्पित है। फार्माटेक एक्सपो फार्मा मशीनरी, फॉर्मूलेशन, न्यूट्रास्युटिकल, लैब, एनालिटिकल और पैकेजिंग इक्विपमेंट पर एक अंतरराष्ट्रीय प्रदर्शनी है और यह इस क्षेत्र का सबसे बड़ा बी2बी ट्रेड शो है, जिसमें हेल्थकेयर और फार्मा मशीनरी इंडस्ट्री के लोग भाग लेते हैं और संबंधित सेक्टर्स के लिए एडवांस्ड तकनीकों से संबंधित इनोवेशन साझा करते हैं।

एक्सपो के लिए स्टॉल्स 9000 वर्ग मीटर की जगह में लगाए गए हैं, जिसमें 250 से अधिक कंपनियां दवाओं और फार्मास्युटिकल उत्पादों के उत्पादन के लिए मशीनरी और उपकरण प्रदर्शित किये गए हैं। इस वर्ष एक्सपो में उद्योग से लगभग 6,000 से अधिक लोगों के आने की उम्मीद है। भारत, चीन, यूएसए और जर्मनी सहित विभिन्न देशों के खरीदारों के लिए फार्मा उत्पादों, मशीनरी और तकनीकी इनोवेशन को प्रदर्शित किया गया है। इंदौर, अहमदाबाद, मुंबई और चंडीगढ़ में पिछले कुछ वर्षों में इस तरह के 13 आयोजन किए जा चुके हैं। 60 प्रतिशत से अधिक अच्छी तरह से विकसित औद्योगिक क्षेत्रों के साथ उत्तर भारत देश के फार्मास्यूटिकल्स कच्चे माल और फॉर्मूलेशन उत्पादों के उत्पादन में महत्वपूर्ण योगदान देता है। यह एरिया रा मैटेरियल के आपूर्तिकर्ताओं का प्रमुख हब बन गया है। यह फार्मा प्रोसेसिंग मशीनरी, पैकेजिंग मशीनरी और लैब उपकरण की बैकग्राउंड भी प्रदान करता है और इसे एशिया का फार्मास्युटिकल हब माना जाता है।

चंडीगढ़ में एक्सपो के उद्घाटन समारोह में श्री ललित जैन, आईएएस, डायरेक्टर, पर्यावरण, विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग, हिमाचल प्रदेश श्री अरुण कुमार गरोडिया, चेयरमैन, ईईपीसी इंडिया, मनमोहन तनेजा, स्टेट ड्रग्स कंट्रोलर, फूड एंड ड्रग्स एडमिनिस्ट्रेशन, हरियाणा, संजीव गर्ग, ज्वाइंट कमिश्नर ड्रग, पंजाब, प्रदीप कुमार मट्टू, पूर्व ज्वाइंट कमिश्नर ड्रग्स, पंजाब, डॉ. राकेश सूरज, रीजनल डायरेक्टर, ईईपीसी इंडिया, डॉ. राजेश गुप्ता, चेयरमैन, हिमाचल ड्रग मैन्युफैक्चरर्स एसोसिएशन, रमेश शाह, चेयरमैन, फार्माटेक्नोलॉजीइंडेक्स.कॉम प्राइवेट लिमिटेड व अन्य थे।