Krishna

चंडीगढ़ पुलिस को दी शिकायत में माना कृष्णा मार्केट के बूथ नंबर 55 पर कपड़े की चला रहा दुकान

चंडीगढ़ दिनभर

कृष्णा मार्केट में बूथ जिन लोगों को अलॉट हुए थे उन अलॉटियों ने बूथ बेच दिए या फिर किराए पर दे रहे रखे हैं। बूथ अलॉटीज के बीच झगड़ा होने के बाद मामला सामने आया। एक पक्ष ने पुलिस को दी शिकायत में बताया कि उसका नाम अशोक कुमार है । वह बूथ नंबर 55 में दुकान चला रहा है और कुछ दूसरे दुकानदारों ने उस पर जानलेवा हमला कर दिया था, जबकि बूथ नंबर 55 लवली गोसीन, मसतीन शबनम और मीना ग्रोवर को अलॉट हो रखा है जब अशोक से पूछा गया कि बूथ नंबर 55 में कपड़े की दुकान चला रहा है तो उन्होंने हामी भरी। वहीं, बूथ अलॉटमेंट किसी और के होने के सवार पर अशोक कुमार ने कहा कि वह उनके रिश्तेदार हैं और उनकी परमिशन से ही पिछले 2 सालों से बूथ नंबर 55 में काम कर रहा है। इस्टेट ऑफिस के नियमानुसार कोई भी अलॉटी बूथ को न तो किराए पर दे सकता है और न ही बेच सकता है।

ऐसे में अशोक कुमार का बूथ नंबर 55 में कपड़े की दुकान चलाना खुद में प्रश्न चिन्ह है। जिन लोगों को बूथ नंबर 55 अॅलाट किया गया था। वह खरड़ में रहते हैं और कृष्णा मार्केट में बूथ को बेच चुके हैं। अशोक ने जिन दुकारदारों के खिलाफ जानलेवा हमला करने की शिकायत दी है। उसमें विक्की बूथ नंबर 73, नोनी बूथ नंबर 74, ओम बूथ नंबर 62, राम बूथ नंबर 34 शामिल है। ऐसे में सवाल उठता है कि इस्टेट ऑफिस ने जिनको बूथ अलॉट किए थे। वह अलॉटी कहां है। शिकायत में जिनके नाम सामने आ रहे हैं यह कौन है। बूथ नंबर 73 वेद भूषण पुत्र प्रभु दयाल मकान नंबर 3359 मलोया, बूथ नंबर 62 सुभाष चंद्र पुत्र राम धारी, बूथ नंबर 34 श्री पाल पुत्र बृज लाल गुप्ता मकान नंबर 3071 / 1 हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी धनास को अलॉट हो रखा है।

सभी बूथ बिक चुके

कृष्णा मार्केट बूथ घोटाले को उजागर करने वाले दिनेश सूद ने कहा कि कृष्णा मार्केट के अधिकतर बूथ बिक चुके है। बीते दिनों जो लड़ाई झगड़ा हुआ था, उसके शिकायतकर्ता अशोक कुमार और जिन लोगों पर आरोप लगे हैं उन सभी ने बूथों को खरीद रखा है। बुधवार को एसएसपी को शिकायत करूंगा। शिकायत में चंडीगढ़ पुलिस से अपील करुंगा कि बीते दिनों हुए झगड़े के शिकायतकर्ता और आरोपियों से पूछा जाए कि किस अधिकार से वह सब कृष्णा मार्किट में काम कर रहे हैं।