डॉ. तरूण प्रसाद 2023 04 29T112257.964

चंडीगढ़ दिनभर
सेक्टर-49 पुलिस ने नाके के दौरान एक व्यक्ति को फेक नंबर लगाकर घूम रहे व्यक्ति को नाके पर रोका। बाद में पता चला कि उसने तो एक्टिवा पैसे देकर खरीदी थी और फिर पुलिस ने जांच कर असली आरोपी को गिर तार कर लिया। आरोपी की पहचान सेक्टर-21 के रहने वाले सौरभ गुप्ता के रूप में हुई है। पुलिस ने बताया कि हेड कांस्टेबल वरिंदर द्वारा सेक्टर-48 की मोटर मार्किट में नाका लगाया गया था, जहां पर उसने एक एक्टिवा चालक को रोका चालक का नाम मुकेश था।

जब पुलिस ने एक्टिवा के डॉक्यूमेंट चेक किए तो पाया कि यह नंबर तो पंचकूला के एक पुलिस कॉलोनी के रहने वाले कुलदीप के नाम पर रजिस्टर है। पुलिस ने कुलदीप से भी संपर्क किया तो पता चला कि उसकी एक्टिवा तो उसके पास ही है। इसके बाद मुकेश ने पूछताछ में बताया कि उसने एक्टिवा सेक्टर -21 में रहने वाले सौरभी से 36 हजार में खरीदी थी, जिसके बाद पुलिस ने सौरभी को गिरफ्तार कर लिया और जब उससे पूछताछ की गई तो उसने कबूला कि उसने ही फेक नंबर लगाकर एक्टिवा मुकेश को बेची थी।