डॉ. तरूण प्रसाद 2023 06 08T125704.686

चंडीगढ़ दिनभर

चंडीगढ़। कनाडा जाने के लिए एक युवती ने फेसबुक पर विज्ञापन देखा और उसमें दिए गए मोबाइल नंबर पर फोन किया। तो आरोपी ने ऑफिस में बुलाकर 20 लाख और डाक्यमेंट ले लिए लेकिन काफी दिन बीत जाने के बाद कनाडा का वीजा नहीं दिया तो इसकी शिकायत पंजाब के मोगा के रहने वाले भूपिंदर सिंह ने चंडीगढ़ साइबर सेल को दी। साइबर सेल के पास भूपेंद्र ङ्क्षसह समेत 15 लोगों ने शिकायत साइबर सेल को दी। साइबर सेल के पास कुल 2 करोड़ 27 लाख 11 हजार की ठगी की शिकायत पहुंची। एसपी केतन बंसल ने डीएसपी वैंकटेश की अगुवाई में इंस्पेक्टर रंजीत की अगुवाई में स्पेशल टीम बनाई गई। कारवाई करते हुए दो आरोपियों को गिर तार कर लिया।

दोनों आरोपियों की पहचान जालंधर के रहने वाले मंदीप और कमलजीत के रूप में हुई। आरोपी मंदीप के खिलाफ पहले भी अटैम्प्ट टू मर्डर और आम्र्स एक्ट की धाराओं के तहत केस दर्ज हैं। जांच में सामने आया कि मंदीप अपना नाम अरविंदर ग्राहकों को बताता था। एसपी बंसल ने कहा कि दोनों लोगों से ठगे पैसों को डबल करने के लालच में इन दोनों ने फेयरबैट किक्रेट ऑनलाइन अप्प में पैसे लगा कर जुआ खेलते थे। दोनों ने राजस्थान स्थित गंगानगर में एक न्यू ऑफिस खोलने की तैयारी कर रहे थे। नाम कैरियर ओवरसीज रखा गया था।

आरोपियों ने जाली दस्तावेज भी तैयार कर लिए थे। जिसमें रोबिन के नाम से पैन कार्ड और आधार कार्ड, लाइसेंस गुरविंदर के नाम से और लाइसेंस पर आरोपी कंवलजीत की फोटो लगी हुई थी। और आरोपियों ने इन दस्तावेजों के आधार पर जाली बैंक अकांउट खोलने और सिमकार्ड खरीदने थे।