एनएसएस

चंडीगढ़ दिनभर। हरियाणा के राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय ने कहा है कि देश को सुदृढ़ व सुरक्षित बनाने के लिए हर युवा को राष्ट्रीय कैडेट कोर के कैडेट व राष्ट्रीय सेवा योजना के स्वयंसेवक के रूप प्रशिक्षण लेकर देश व समाज की सेवा के लिए आगे आना चाहिए। राज्यपाल दत्तात्रेय मंगलवार को हरियाणा राजभवन में वर्ष 2023 की गणतंत्र दिवस परेड में भाग लेने वाले राज्य के एनसीसी कैडेट्स व एनएसएस के स्वयंसेवकों के सम्मान समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में अपना संबोधन दे रहे थे। समाज एनसीसी कैडेट्स व एनएसएस के स्वयंसेवकों को देश के प्रति समर्पित अनुशासित आदर्श युवाओं के तौर पर देखता है। उन्होंने कहा कि समाज में 90 प्रतिशत लोग सदाचारी और सदव्यवहारी हैं, बाकि 10 प्रतिशत के लोगों को अनुशासन में लाने की जिम्मेदारी एनसीसी व एनएसएस के स्वयंसेवकों की है। उन्होंने ने कहा कि आज पूरे देश में लगभग 15 लाख एनसीसी के कैडेट्स और 40 लाख एनएसएस के स्वयंसेवक इस दिशा में बड़ी स्फूर्ति के साथ कार्य कर रहे हैं और इसके साथ ही उन्हें विश्वास है कि वे समग्र समाज को बुराई मुक्त कर देंगे।

उन्होंने कहा कि एनसीसी कैडेट्स व एनएसएस के स्वयंसेवक भविष्य में भी नशे, छुआछुत, महिलाओं के प्रति अत्याचार, दहेज प्रथा जैसी सामाजिक कुरीतियों को दूर कर समाज के उत्थान में अपना महत्वपूर्ण योगदान देते रहेंगे। और राज्य के सांस्कृतिक व सामाजिक दूत के रुप में मानवता की सेवा करते रहेंगे। राज्य सरकार भी राष्ट्रीय कैडेट कोर व राष्ट्रीय सेवा योजना की गतिविधियों को लोकप्रिय बनाने और उन्हें प्रोत्साहन देने का भरसक प्रयत्न करती रहेगी। शर्मा ने अपने संबोधन में कहा कि वर्ष-2023 गणतंत्र दिवस परेड में भाग लेने वाले हरियाणा के राष्ट्रीय कैडेट कोर व राष्ट्रीय सेवा योजना के स्वयंसेवकों ने हरियाणा का नाम रोशन किया है।

राष्ट्रीय कैडेट कोर हरियाणा के अतिरिक्त महानिदेशक मेजर जनरल के. विनोद कुमार ने कहा कि अनुशासित जीवन से ही हम एकजूट भारत की कल्पना कर सकते हैं। कार्यक्रम में राष्ट्रीय सेवा योजना के राज्य संयोजक अधिकारी दिनेश कुमार ने एन.एस.एस व उच्चतर शिक्षा विभाग के उपनिदेशक अजीत सिंह ने एन.सी.सी के कार्यक्रमों की जानकारी दी। राज्यपाल ने गणतंत्र दिवस परेड तथा प्रधानमंत्री रैली में भाग लेने वाले 39 राष्ट्रीय कैडेट कोर के कैडेट्स और 21 राष्ट्रीय सेवा योजना के स्वयंसेवकों को सम्मानित किया।