पैनोरमा

कुरुक्षेत्र।
कुरुक्षेत्र पैनोरमा एवं विज्ञान केन्द्र में 28 फरवरी 2023 को राष्ट्रीय विज्ञान दिवस का आयोजन किया गया। ज्ञातव्य है कि प्रतिवर्ष 28 फरवरी राष्ट्रीय विज्ञान दिवस के रूप में मनाया जाता हैं। इस अवसर के उपलक्ष्य में केंद्र में कुरूक्षेत्र विश्वविद्यालय, कुरूक्षेत्र के जैव प्रौद्योगिकी विभाग की सहायक प्रोफेसर डा. बिन्दु बतान मुख्य अतिथि थी। मुख्याअतिथि डॉ. बिन्दु बतान ने डा. सीवी रमन की प्रतिमा पर मार्ल्यापण कर कार्यक्रम की शुरुआत की। तत्पश्चात सभी विद्यार्थियों, अध्यापकों एवं केंद्र के कर्मियों द्वारा एक विज्ञान मार्च आयोजित किया गया।

मुख्य अतिथि डॉ. बिन्दु बतान अवसर पर वैश्विक भलाई हेतु वैश्विक विज्ञान विषय पर लोकप्रिय विज्ञान व्याख्यान प्रस्तुत किया। डॉ. बिन्दु ने बताया कि कोरोना काल में भारत के वैज्ञानिक अनुसंधान को विश्व स्तर पर सराहा गया है। भारत में बनी वैक्सीन ने दुनियाभर में लाखों जानें बचाई है। समूचे विश्व की कुल वैक्सीन उत्पादन का 60 प्रतिशत उत्पादन केवल भारत में होता है। प्राचीन काल में विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी के उत्थान से लेकर स्वतंत्रता प्राप्ति से अब तक भारत द्वारा विज्ञान के क्षेत्र में अनुकरणीय योगदानों को सारगर्भित तरीके से विद्यार्थियों के समक्ष रखा।

केन्द्र के परियोजना समन्वयक सुरेश कुमार सोनी ने बताया कि 1986 से प्रतिवर्ष 28 फरवरी राष्ट्रीय विज्ञान दिवस के रूप में मनाया जाता है। इसी दिन 1928 में सर चन्द्रशेखर वेंकट रमन ने विश्व विख्यात ‘रमन प्रभाव‘ की खोज की जिस कारण उन्हें 1930 में नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया गया। उन्होंने बड़े सरल तरीके से बच्चों को रमन प्रभाव तथा प्रकाश के प्रकीर्णन के बारे में बताया। उन्होंने बताया कि आज भारत विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी के हर क्षेत्र में नित नए अविष्कारों के माध्यम से मानव जीवन को और अधिक सुलभ तथा सहज बनाने हेतू निरंतर प्रयासरत है।

केंद्र के शिक्षा अधिकारी जितेंद्र कुमार दास ने बताया कि आज केन्द्र में विज्ञान प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता एवं चित्रकला प्रतियोगिता का आयोजन किया गया, जिसके परिणाम इस प्रकार हैं। चित्रकला प्रतियोगिता में प्रथम पुरस्कार द मिलेनियम वर्ल्ड स्कूल चीका की अनन्या सिंगला, द्वितीय पुरस्कार सहारा कम्प्रेहैन्सिव स्कूल कुरुक्षेत्र के मौलिक, तृतीय पुरस्कार द मिलेनियम वर्ल्ड स्कूल चीका की नवनुर कौर को तथा इसके अतिरिक्त लवन्या, राधिका चौधरी, रीतिका गोयल, प्रयाल, मनोज तथा दिवांशी को सांत्वना पुरस्कार प्रदान किया गया। विज्ञान प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता में कसक, यक्ष, चंदन, स्पर्श, आदित्य, कृतिका, दक्षदीप, साव्या, दिवांशी, विश्व, प्रियांशी, चकशव को विजेता घोषित किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share via
Copy link