डॉ. तरूण प्रसाद 2023 04 12T110431.582

मुख्यमंत्री ने पानीपत में कार्यक्रम में की शिरकत, दिव्यांगजनों को वितरित किए कृत्रिम अंग व उपकरण

चंडीगढ़ दिनभर। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा पिछले 8 वर्षों में दिव्यांगजनों को करीब 8 करोड़ रुपये के कृत्रिम उपकरण वितरित किए गए हैं। इसके अलावा, विभिन्न गैर सरकारी संगठनों को भी 44 करोड़ रुपये उपलब्ध करवाए गए हैं। प्रदेश सरकार द्वारा इस कार्य के लिए बजट में भी वृद्धि की गई है। मुख्यमंत्री पानीपत में गुरुदेव सुदर्शन लाल महाराज के जन्म शताब्दी वर्ष कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि बोल रहे थे। यह कार्यक्रम भारत विकास परिषद और जैन समाज द्वारा संयुक्त रूप से आयोजित किया गया था। इस कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने दिव्यांगजनों को कृत्रिम अंग तथा उपकरण भी वितरित किए। उन्होंने कहा कि दिव्यांगजनों के लिए रेडक्रॉस की ओर से चलाए जा रहे 15 केन्द्रों का सारा खर्च भी सरकार उठा रही है।

सरकार ने 45 बाल आश्रम अनाथालय भी चलाए हैं, जिनमें अनाथ बच्चों के लिए 18 वर्ष तक शिक्षा का प्रावधान रखा गया है। यही नहीं, 18 से 25 वर्ष तक भी उनकी आगे की शिक्षा और पूरा खर्च सरकार वहन करती है। सरकार ने हरिहर योजना के तहत अनाथ लड़के और लड़कियों के लिए ग्रुप सी और डी में नौकरी का प्रावधान करके उनके रहने के लिए मकान और शादी का खर्च भी देने का प्रावधान किया है। प्रदेश की दिव्यांग खिलाड़ी दीपा मलिक सभी दिव्यांगजनों के लिए प्रेरक है, जिन्होंने पैरालम्पिक में पदक जीतकर प्रदेश का नाम रौशन किया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि पूरे देश में करीब 2 करोड़ 65 लाख लोग किसी न किसी कारण से दिव्यांग हैं। भारत विकास परिषद और जैन समाज जिस तरह से दिव्यांगजनों को मुख्यधारा में लाने के लिए और उन्हें स्वाभिमानी बनाने के लिए काम कर रहा है। इस पुनित कार्य में प्रदेश सरकार भी उन्हें हर तरह से सहयोग देगी। उन्होंने कहा कि प्रदेश में भारत विकास परिषद की करीब 50 ईकाइयां और पूरे देश में 1200 ईकाइयां काम कर रही हैं जो भिन्न-भिन्न रूप से गरीब व्यक्तियों के लिए काम करती है।

उन्होंने कहा कि चंडीगढ़ में भी मेडिकल चैकअप को लेकर केन्द्र स्थापित किया गया है। हिसार में कृत्रिम अंग निवारण के लिए केन्द्र बनाया गया है। गुरुग्राम में भी आरोग्य धाम स्थापित किया गया है। ये सब भारत विकास परिषद की इकाइयां हैं जो विभिन्न तरह से सम्पूर्ण समाज को परिवार मानते हुए काम कर रही है। उन्होंने कहा कि सदियों से जैन समाज लोगों के प्रेरणा का काम कर रहा है। प्रथम तिर्थकंर ऋषभ देव से लेकर भगवान महावीर और न जाने कितने तिर्थंकरों और मुनियों ने जैन समाज को आगे बढ़ाने का काम किया है जो हम सबके लिए प्रेरणादायक है।विश्व हिन्दू परिषद के अंतरराष्ट्रीय संयुक्त महामंत्री सुरेंद्र जैन ने गुरु सुदर्शन के जीवन पर प्रकाश डालते हुए उन द्वारा बताई गई नीतियों को अपनाने पर बल दिया। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री भी संत प्रवृत्ति के व्यक्तित्व के धनी है जो राज्य का नेतृत्व कर रहे हैं। अध्यात्म के रास्ते पर चलकर मुख्यमंत्री सेवा और संस्कार के साथ गरीब व्यक्तियों की सहायता कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि भारत विकास परिषद भी गरीब व्यक्तियों की सहायता करने का लक्ष्य रखते हुए सेवा में संस्कार और संस्कार में सेवा करती है। उन्होंने प्रदेश सरकार द्वारा किए गए कार्य की भी खुब प्रशंसा की और कहा कि ऐसे अभियानों में भारत विकास परिषद ज्यादा से ज्यादा सहयोग करती रहेगी। कार्यक्रम में राज्यसभा सांसद कृष्णलाल पंवार, विधायक महिपाल ढांडा, प्रमोद विज, उपायुक्त सुशील सारवान, एसपी अजीत सिंह शेखावत, सीईओ जिला परिषद विवेक चौधरी, एसडीएम विरेन्द्र ढुल सहित भारत विकास परिषद व जैन समाज के विभिन्न गणमान्य व्यक्ति व पदाधिकारी भी उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share via
Copy link